Chemistry Objective | Ssc | Bank | Railway | Police | Oneliner


  • स्मरणीय बिंदु रसायन विज्ञान के –
  • साधारण कांच मे सोडियम पोटेशियम कैल्शियम और लैड के सिलिकेट होते हैँ 
  • यदि साधारण कांच को बनाते समय उससे सिल्वर क्लोराइड डाल  दिया जाये तो वह कांच फोटोक्रोमिक किस्म का अथवा स्वतः रंग बदलने वाला बन जाता हैँ 
  • घरों मे ईंधन के रूप मे प्रयुक्त की जाने वाली द्रवित प्राकृतिक गैस को LPG कहते हैँ यह ब्यूटेन तथा प्रोपेन गैसों का मिश्रण होती हैँ 
  • किसी विद्युती अपघटनी सैल की एनोड पर हमेशा आक्सीकरण और कैथोड पर अवकरण की क्रिया होती हैँ 
  • सोडियम एक ऐसी धातु हैँ जो जल पर तैरती हैँ 
  • ग्रीन हाउस प्रभाव मे प्रमुख उत्तरदायी गैस कार्बन डाइआक्साइड हैँ 
  • गंधक के अम्ल का प्रयोग मोटर कार की बैटरीयों मे किया जाता हैँ 
  • क्वार्टज़ प्रकृति मे सबसे अधिक मात्रा मे पाया जाने वाला खनिज हैँ अधिकतर चट्टानों इसी से बनी हैँ 
  • कुछ पदार्थ सूर्य के प्रकाश मे रखने के बाद प्रकाश से हटाए जाने पर भी प्रकाश निकलते रहते हैँ इस घटना को स्फुरण या स्फ्रुदीप्ति कहते हैँ यह गुण कैल्शियम सल्फाइड मे पाया जाता हैँ 
  • सबसे भारी धातु ओस्मियम (Os) हैँ 
  • डी डी टी का पूरा नाम डाइक्लोरो डैफिनाइल ट्राइक्लोराइड हैँ यह एक कीटाणु नाशक दवा हैँ 
  • अर्द्घचालकों की विद्युत चालकता तापमान बढ़ाने के साथ बढ़ती हैँ और तापमान घटाने पर कम होती हैँ 
  • परम शून्य तापमान पर गैसों का आयतन शून्य हो जाता हैँ अथवा अणुओ के सभी प्रकार की गति शून्य हो जाती हैँ 
  • क्लोरीन एक रोगाणुनाशी है
  • स्प्रिंग तथा पैरासिटामाल ज्वरनाशी पदार्थ है
  • क्लोरोफार्म का प्रयोग भी निश्चेतक के रूप मे किया जाता है
  • प्रतिजैविक बैक्टरिया कवक तथा मोल्ड्स द्वारा उत्पन्न होते है जो अन्य बैक्टेरिया के लिए विषैली होते है
  • पेंसिलिन एक उत्तम प्रतिजैविक है जो कवक से प्राप्त होता है 
  • क्लोरोफेनिकोल का व्यापारिक नाम क्लोरोमाइसिटिन है इसका प्रयोग टाइफाइड, ज्वर डायरिया तथा पेचिस मे किया जाता है यह एक प्रभावीं प्रतिजैविक रेशे है 
  • बोरिक अम्ल तथा ऊन जांवत प्राकृतिक रेशे है सूत जूट तथा हैम्प वानस्पतिक प्राकृतिक रेशे है 
  • बोरिक अम्ल तथा पोटेशियम परमैग्नेट प्रतिरोधी पदार्थ है 
  • आयोडीन एक प्रबल जीवाणु नाशी है आयोडीन का प्रयोग टिक्चर बनाने मे किया जाता है 
  • एंजाइम विशेष प्रकार के प्रोटीन होते है 
  • गेमेक्सीन (C6H6Cl6) हैक्साक्लोरो साइक्लो हेक्सेन है यह एक उत्तम कीटनाशी है 
  • अधिकांश संक्रमण धातु आयन एव उनके यौगिक रंगीन होते है 
  • हीमोग्लोबिन एक विशेष प्रकार की प्रोटीन है जिसका प्रमुख कार्य फेफड़े से आक्सीजन को रक्त धारा की सहायता से विभिन्न ऊतकों को पहुचना है 
  • कार्बन टेट्राक्लोराइड (CCl4) का प्रयोग पायरीन के नाम से आग बुझाने के संयंत्रों मे किया जाता है 
  • नाइट्रोग्लिसरीन का प्रयोग डायनामाइट बनाने मे किया जाता है 
  • एलम (Alum) का प्रयोग चमड़े की टेनिंग मे किया जाता है 
  • क्यूप्रस आक्साइड (Cu2o) को रूबी कॉपर कहते है इसका उपयोग दस्तावर (Purgative) के रूप मे होता है 
  • स्टैनिक सल्फाइड (Sns2) को मोसाइक गोल्ड कहते है इसका प्रयोग पेंट के रूप मे  किया जाता है 
  • मैग्नीशियम हाइड्राक्साइड (Mg(OH)2) को मिल्क ऑफ़ मैग्नीशियम कहा जाता है इसका प्रयोग पेट की दवाओं मे किया जाता है 
  • प्रोडूयसर गैस मे Co2, N2, तथा H2 होती है यह एक ईंधन गैस है 
  • पोटेशियम कार्बोनेट को पर्ल एस (Peral ash ) कहते है यह सोप बनाने मे काम आता है 
  • अमोनियम क्लोराइड (NH4Cl) को नौसादर कहते है यह औषधियों मे काम आता है 
  • कैल्शियम फास्फेट [Ca3(Po4)] का प्रयोग टूथ पेस्ट बनाने मे किया जाता है 
  • प्लास्टर आफ पेरिस का प्रयोग हड्डी टूटने पर प्लास्टर चढ़ाने के काम आता है 
  • सिक्का धातु मे 75% कॉपर तथा 25% निकिल होता है 
  • नाइक्रोम क्रोमियम, निकिल, तथा आयरन की मिश्र धातु है यह हीटर के काइल (Coil) बनाने के काम आती है 
  • ग्रेफाइट का प्रयोग शुष्क स्नेहक के रूप मे किया जाता है 
  • ग्रेफाइट का प्रयोग शुष्क स्नेहक के रूप मे किया जाता है 
  • कार्बन डाइआक्साइड पौधों के लिए प्राणदायनी गैस है 
  • जब कोई द्रव किसी ठोस मे परिक्षेपित hokaer कोलाइडी विलियन बनता है तो वह जैल (Gel) कहलाता है जैसे -जैलो, पनीर, मक्खन, आदि 
  • जब एक द्रव दूसरे अभिमिश्रण द्रव मे परिक्षेपित होकर कोलाइडी विलियन बनाता है तो वह पायस (Emulsion) कहलाता है जैसे -दूध 
  • धुँआ वायु मे कार्बन और अन्य कणों का कोलाईडी विलियन होता है 
  • फोटोग्राफिक प्लेट पर सिल्वर ब्रोमाइट तथा जिलेटिन की पतली परत चढ़ी होती है 
  • हीलियम गैस हल्की होने के कारण वायुयानों के टायरों मे भरी जाती है 
  • हीलियम और आक्सीजन का मिश्रण गहरे समुद्रो मे गोताखोरों द्वारा वायु के स्थान पर प्रयोग किया जाता है क्योंकि अधिक दाब पर हीलियम नाइट्रोजन की अपेक्षा रक्त मे कम विलेय होती है 
  • दमा के रोगी को भी हीलियम और आक्सीजन का मिश्रण वायु के स्थान पर दिया जाता है 
  • विज्ञापन चिन्हो मे विभिन्न रंग के प्रकाश उत्पन्न करने के लिए नियॉन गैस का प्रयोग किया जाता है 
  • हवाई अड्डों पर विमान चालकों को संकेत देने केलिए नियॉन लैम्प का परयोग किया जाता है क्योंकि यह प्रकाश कुहरे मे अधिक चमकता है 
  • आर्गन गैस विद्युत बल्बों मे भरी जाती है क्योंकि इसकी उपस्थिति मे तन्तु (Filament) बहुत समय तक सुरक्षित रहता है 
  • रेडान का प्रयोग कैंसर उपचार मे किया जाता है 
  • हाइड्रोजन पराक्साइड के तनु विलियन का प्रयोग कीटणुनाशक के रूप मे दाँत कान, घाव आदि धोने मे किया जाता है 
  • पुराने तैल चित्रो को चमकदार बनाने के लिए हाइड्रोजन पराक्साइड का प्रयोग किया जाता है 
  • सोडियम हाइड्राक्साइड का प्रयोग सूती कपड़ो मे चमक पैदा करने मे किया जाता है 
  • -273° तापमान का केल्विन मे मान 0°K होता है 
  • 0°K तापमान को परम शून्य (Absolute zero )कहते है 
  • सोडियम बाइकार्बोनेट (NaHCO3) का प्रयोग बेंकिंग पाउडर, झागदार पेय तथा अनेक दवाइयों मे किया जाता है 
  • पोटेशियम क्लोरेट (KClO3) का प्रयोग आतिशबाजी तथा कीड़े मारने की दवाई के रूप मे किया जाता है 
  • पोटेशियम साइनाइड (KNC) एक विष है इसका प्रयोग सोने व चाँदी के विद्युत लेपन मे किया जाता है 
  • कॉपर सल्फेट एक जहर है इसे कीटनाशक़ के रूप मे प्रयोग किया जाता है 
  • सिल्वर नाइट्रेट (Agno3)का प्रयोग निशान लगाने वाली स्याही बनाने मे किया जाता है वोटरों की अंगुली पर इसी का निशान लगाया जाता है 
  • बुझा हुआ चुना [(CaCo3)] दीवारों पर सफेदीं करने के काम आता है 
  • कैल्शियम कार्बोनेट (CaCo3) का प्रयोग दंत मंजन, पाउडर तथा पेस्ट बनाने मे किया जाता है 
  • जिंक आक्साइड (Zno) जिंक व्हाइट अथवा चाइनीज व्हाइट के नाम से सफेद पेन्टो मे प्रयोग किया जाता है 
  • मरहम और चहरे की क्रीम बनाने मे भी जिंक आक्साइड (Zno) का प्रयोग किया जाता है 
  • जिंक सल्फाइड स्फ्रुदीप्ति पर्दे ( Phosphorescent) बनाने मे काम आता है 
  • मर्क्युरीक़ क्लोराइड (Hgcl2) का 1% विलियन शल्यकर्म औजारों के निजमीरकरण(Sterilisation) मे प्रयोग किया जाता है 
  • पारे का उपयोग मरकरी वाष्प लैम्प बनाने मे होता है 
  • एल्युमिनियम का प्रयोग सिगरेट, साबुन मिठाई लपेटने के लिए पतली परतो रूप मे होता है 
  • हाइड्रोजन आवर्त सारणी का प्रथम तत्व है 
  • ट्राइटियम हाइड्रोजन का रेडिओएक्टिव समस्थानिक है 
  • जल हाइड्रोजन का उदासीन आक्सीइड है 
  • शुद्ध जल एक ध्रुवीय यौगिक है 
  • जियोलाइट जल के शुद्धीकरण मे प्रयोग होता है 
  • भारी जल भारी हाइड्रोजन का आक्सीइड होता है 
  • भारी जल का क्वथनांक 101.42°C तथा हिमांक 3.8°C होता है 
  • भारी जल नाभिकीय रिएक्टर मे मंदक के रूप मे प्रयोग किया जाता है 
  • हाइड्रोजन प्राक्साइड रेशम, उन, पँख, आदि कोमल वस्तुओ का विरंजन करने मे प्रयुक्त होता है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *