Chemistry | सल्फर, नाइट्रोजन, हैलोजन,अक्रिय गैसे | Objective


सल्फर, नाइट्रोजन, हैलोजन, अक्रिय गैसे 

1-हाइड्रोजन, ऑक्सिजन, हीलियम तथा कार्बन डाईआक्साइड मेक से नोबेल गैस कहलाती हैं -(हीलियम )

2-आर्गन, कार्बन डाईआक्साइड, नाइट्रोजन तथा आक्सीजन मे से वह गैस जिसकी प्रतिशत मात्रा (आयतन me)वायु मण्डल मे  सबसे कम हैं -(कार्बन डाई आक्साइड )

3-वायुमण्डलीय वायु मे नाइट्रोजन लगभग होती हैं -(78-79%)

4-N2, O2, कार्बन तथा H2 मे से गैसीय चक्र नही हैं -(H2)

5-गोताखोर के सास लेने संबंधी क्रिया मे उपयोग की जाने वाली गैसे हैं -(आक्सीजन और हीलियम )

6-गोताखोर द्वारा गहरे समुन्द्र मे सास लेने के लिए आक्सीजन के साथ मिश्रित किया जाता हैं -(हीलियम को )

7-सल्फर हेक्साफ्लोराइड अणु का आकर हैं -(अष्टफलकीय )

8-जल मे आसानी से घुलनशील हैं -(अमोनिया )

9-हास्य गैस (लाफिंग गैस ) के रूप मे प्रयुक्त होता हैं -(नाइट्रस आक्साइड )

10-डाक्टरों द्वारा एनेस्थीसिया के रूप मे प्रयोग होने वाली हास्य गैस हैं -(नाइट्रस आक्साइड )

11-आर्गन, नियॉन, जीनॉन, तथा नाइट्रस आक्साइड मे se स्ट्रेंजर गैस भी कहते हैं -(जीनॉन को )

12-नाइट्रोजन मुक्ती से होता हैं-(स्थल मण्डलीय एवं वायुमंडलीय नाइट्रोजन की मात्रा अप्रभावित )

13-वायुयान के टायरों मे भरने मे प्रयोग किया जाता हैं -नाइट्रोजन गैस का )

14-मैग्नीज, नाइट्रोजन, मैग्निसियम तथा सल्फर मे से वह तत्व जिसकी कमी को पूरा करने के लिए कीटभक्षी पौधे कीटो को पकड़ते तथा उनका भक्षण करते हैं -(नाइट्रोजन )

15-किटभक्षी पौधे जिस मृदा मे उगते हैं उसमे कमी रहती हैं -(नाइट्रोजन की )

16-सामान्यत: गुब्बारे मे भरी जाती हैं -(हीलियम)

17-वायु भरे गुब्बारे मे हीलियम को हाईड्रोजन की अपेक्षा वरीयता दी जाती है, क्योंकि यह -(वायु के साथ विस्फोटक मिश्रण नहीं बनता हैं 

18-अश्रु गैस हैं -(अमोनिया )

19-H2, So2, Nh2, तथा, Cl2 मे से अश्रु गैस की तरह काम मे लेते हैं -(NH3 को )

20-क्लोरिन, ब्रोमीन, आयोडीन, तथा फ़्लोरिन, मे से सामान्य ताप पर ठोस अवस्था मे रहता हैं -(आयोडीन )

21-ग्लाइसिन, एलेनिन, तथा सेरीन मे से ऑप्टिकली सक्रिय नहीं हैं -(ग्लाइसिन )

22-हैलोजन मे सबसे अधिक अभिक्रियाशाली हैं -(फ़्लोरिन )

23-वह हैलोजन जिसका उपयोग पीड़ाहारी की तरह किया जाता हैं -(ब्रोमीन )

24-ट्यूबलाइट मे निम्न दाब पर भरी जाती हैं -(नियॉन और पारद वाष्प )

25-ट्यूबलाइट मे भरी होती हैं -(कम दाब पर आर्गन गैस एवं कम दाब पर पारे की वाष्प )

अम्ल, क्षार तथा लवण 

1-स्वर्णकारों द्वारा प्रयोग मे आने वाला एक्वरेजिया बनाया जाता हैं -(नाइट्रिक अम्ल तथा हाइड्रोक्लोरिक अम्ल को मिलाकर )

2-पी. एच, एक मूल्यांक दर्शाता हैं -(किसी घोल के अम्लीय या क्षारीय होने का मूल्यांक )

3-एक विलयन लाल लिटमस को नीला कर देता हैं विलयन का ph हैं -(7से अधिक )

4-रसायन उद्दोग मे वह तेजाब जो मूल रासायनिक माना जाता हैं -(H2SO4)

5-कॉपर सल्फेट का जलीय घोल अम्लीय होता हैं क्योंकि इस लवण का-(जल अपघटन होता हैं )

6-Alcl3, Bf3, Nh3, तथा fecl3 मे से लुईस अम्ल नही हैं -(Nh3)

7-जल मे कार्बन डाई आक्साइड प्रवाहित करने पर बना सोडा वाटर -(अम्लीय प्रकृति का हैं )

8-वह अम्ल जिसमे आक्सीजन नहीं हैं -(हाइड्रोक्लोरीन अम्ल (नमक का अम्ल ))

9-नीला थोथा हैं -(कॉपर सल्फेट )

10-एक अज्ञात गैस जल मे शीघ्रता से घुल जाती है गैस युक्त जलीय घोल मे लाल लिटमस नीला हो जाता हैं यह गैस हाइड्रोजन क्लोराइड के  साथ सफेद धूम्र भी देती हैं यह अज्ञात गैस हैं -(अमोनिया )

11-खाने का सोडा हैं -(सोडियम बाइकार्बोनेट )

12-बेंकिग सोडा का रासायनिक सूत्र हैं -(NaHCO3)

13-धोने के सोडा का रासायनिक सूत्र हैं -(NA2CO3)

14-खाने का नमक (NaCl )बनता हैं -(मजबूत अम्ल और मजबूत क्षार से )

15-कैल्सियम कार्बोनेट, सोडियम क्लोराइड, पोटैशियम क्लोराइड तथा मैग्नीशियम सल्फेट मे से वह लवण जो सागर मे सर्वाधिक पाया जाता हैं -(सोडियम क्लोराइड )

16-खाने का नमक (Nacl )बनता हैं -(मजबूत अम्ल और मजबूत क्षार से )

17-ब्लींचिंग पाउडर मे होता हैं -(कैल्शियम आक्सीक्लोराइड )

18-जब इनो लवण को जल मे डाला जाता हैं बुलबुले बनते हैं जिसका कारण हैं -(Co2गैस )

19-फोटो ग्राफ़ी प्लेट को विकसित करने मे -(सोडियम थायोसल्फेट उपचायक की भाती उपयोग होता हैं )

20-क्रोम रेड, सोडियम थायोराइड, हाइड्रोजन पराक्साइड, तथा कैलोमल पदार्थ मे से वह पदार्थ जो फोटो ग्राफ़ी मे तथा एक एंटीक्लोर के रूप मे भी प्रयुक्त होता हैं -(सोडियम थायोसल्फेट )

21-फोटोग्राफ़ी मे प्रयुक्त होने वाला हाइपो विलयन, जलीय विलयन हैं -(सोडियम थायोसल्फेट )

22-फोटोग्राफ़ी मे उपयोग तत्व हैं -(सिल्वर ब्रोमाइड )

23-फोटोग्राफी की प्लेट पर परत चढ़ाई जाती हैं -(सिल्वर ब्रोमाइड की )

24-अल्कोहल, पानी, शहद, तथा, गैसोलीन मे से सबसे अधिक श्यान हैं -(शहद )

     कार्बनिक रसायन (हाइड्रोकार्बन)

1-अनुकारित आदिम भूमि परिस्थितियों मे प्रादुर्भाव का सही अनुक्रम हैं -(मीथेन, हाईड्रोजन, सायनाइड, नाइट्राइल, एमीनो, अम्ल, 

2-सभी जैव यौगिक का अनिवार्य मूल तत्व हैं -(कार्बन )

3-सभी जैव यौगिकों का अनिवार्य मूल तत्व हैं -(कार्बन )

4-हाइड्रोकार्बन के अणुभार के बढ़ते अनुक्रम के अनुसार सही क्रम हैं, -(मीथेन, इथेन, प्रोपेन, और ब्यूटेन )

5-प्रथम विश्वयुद्ध मे रासायनिक आयुध के रूप मे प्रयोग किया गया था -(मस्टर्ड गैस का )

6-मस्टर्ड गैस का उपयोग किया जाता हैं -(रासायनिक युद्ध मे )

7-ब्यूटेन, मीथेन, प्रोपेन, तथा रेडान मे से वह गैस जो सिगरेट लाइटर मे प्रयुक्त होती हैं -(ब्यूटेन )

8-भोपाल गैस त्रासदी हुई थी -(मिथाइल आइसोसाइनेट के रिसाव के कारण )

9-छपाई मे प्रयोग की जाने वाली स्याही प्राप्त होती हैं -(मीथेन अपघटन से )

10-वह उत्प्रेरक जिसका उपयोग वनस्पति तेलों के हाइड्रोजनीकरण के लिए किया जाता हैं -(निकेल )

11-फल पकाने मे सहायता करता हैं -(इथेफान )

12-फल पकाने के लिए उपयोग मे लाया जाता हैं -(कैल्शियम कार्बाइड )

13-हरे फलो को कृत्रिम रूप से पकाने के लिए कैल्शियम कारबाईड का प्रयोग किया जाता हैं क्योंकि यह उत्पन्न करता हैं -(एसीटिलीन )

14-बेंजीन के लिए सत्य हैं -(इसमे बारह सिग्मा एवं तीन पाई बंध होते हैं )

–एल्कोहल

1-एथिल एल्कोहल को पीने के अयोग्य बनाया जाता हैं -(मेथेनाल एवं पीरिडिन को मिलाकर )

2-उन शराब त्रासदियों मे जिनमें परिणाम स्वरूप अंघाता आदि होती हैं हानिकारक पदार्थ हैं -(मेथिल एल्कोहल )

3-वुड स्परिट भी कहा जाता हैं -(मेथिल एल्कोहल को )

4-शक्कर के किण्वन से बनता हैं -(इथाइल एल्कोहल )

5-शीरा अति उत्तम कच्चा माल हैं -(एल्कोहल के उत्पादन के लिए )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *